तलाश

 

क्या क्या ना रक़्स दिखाएं तूने ऐ अस्म,

सहता ही रहा बुत बनकर, तेरे इंतजार में.

ना गवार सी गुजरी, मेरी ये उज्र – माज़रत

बस में ना थी, इस्तादगि, ना किसी के इख्तयार में.

खानाबदोश होना, कोई शौक तो न था

फिरता रहा मैं मारा, छत के तलाश में.


Urdu meanings:
अस्म (asma): Greed
उज्र -माज़रत (Ujra Mazarat) : Objection
इस्तादगि (Istadagi) : Act of rising
खानाबदोस (Khaana-ba-dosh) : Vagabond

Advertisements